Shayaris


Shayari for love

नज़रे करम मुझ पर इतना न कर,
की तेरी मोहब्बत के लिए बागी हो जाऊं,
मुझे इतना न पिला इश्क़-ए-जाम की,
मैं इश्क़ के जहर का आदि हो जाऊं।

घायल कर के मुझे उसने पूछा,
करोगे क्या फिर मोहब्बत मुझसे,
लहू-लहू था दिल मेरा मगर
होंठों ने कहा बेइंतहा-बेइंतहा।

नहीं है अब कोई जुस्तजू इस दिल में ए सनम,
मेरी पहली और आखिरी आरज़ू बस तुम हो।

तुम पूछ लेना सुबह से, न यकीन हो तो शाम से ये दिल धड़कता है तेरे ही नाम से।

तू चाँद मैं सितारा होता,
आसमान में एक आशिया हमारा होता।
लोग तुझे दूर से देखा करते और
सिर्फ पास रहने का हक हमारा होता।

मोहब्बत कभी किसी की इजाज़त की मोहताज नहीं,
ये हमेशा से होती चली आई है,
और हमेशा होती रहेगी।

आप और आपकी हर बात मेरे लिए ख़ास है,
यही शायद प्यार का पहला एहसास है।

तुम्हारी खुशियों के ठिकाने बहुत होंगे मगर,
हमारी बेचैनियों की वजह… बस तुम हो।

ये जिंदगी चाहे कितने पल की भी मिले,
बस यही दुआ है बस तेरे संग मिले।

तेरे सिवा किसी और की चाहत नहीं
तेरे सिवा किसी और से मोहब्बत नहीं

मेरी मुहब्बत की हद ना तय कर पाओगे तुम
तुम्हें सांसों से भी ज्यादा मुहब्बत करते हैं हम

बदलना नहीं आता हमें मौसम की तरह,
हर एक रूप मैं तेरा इंतज़ार करता हूँ ||
ना तुम समझ सको कयामत तक,
कसम तुम्हारी तुम्हे इतना प्यार करते है

मेरे प्यार की हद न पूछो तुम
हम जीना छोड़ सकते है
पर तुम्हे प्यार करना नहीं

उन हसीं पालो को याद कर रहे थे ,
आसमान से आपकी बात कर रहे थे ,
सुकून मिला जब हमे हवाओ ने बताया ,
आप भी हमें याद कर रहे थे

तेरे बिना तो
सिर्फ साँसे चलती हैं
ज़िन्दगी तो वो
होती है जब तू
पास होती है


Shayari sad

सोचा था तड़पायेंगे हम उन्हें,
किसी और का नाम लेके जलायेगें उन्हें,
फिर सोचा मैंने उन्हें तड़पाके दर्द मुझको ही होगा,
तो फिर भला किस तरह सताए हम उन्हें।

दिन हुआ है, तो रात भी होगी,
मत हो उदास, उससे कभी बात भी होगी।
वो प्यार है ही इतना प्यारा,
ज़िंदगी रही तो मुलाकात भी होगी।

वो बिछड़ के हमसे ये दूरियां कर गई,
न जाने क्यों ये मोहब्बत अधूरी कर गई,
अब हमे तन्हाइयां चुभती है तो क्या हुआ,
कम से कम उसकी सारी तमन्नाएं तो पूरी हो गई।

अब तो वफ़ा करने से मुकर जाता है दिल,
अब तो इश्क के नाम से डर जाता है दिल,
अब किसी दिलासे की जरूरत नही है,
क्योंकि अब हर दिलासे से भर गया है दिल।

होले होले कोई याद आया करता है,
कोई मेरी हर साँसों को महकाया करता है,
उस अजनबी का हर पल शुक्रिया अदा करते हैं,
जो इस नाचीज़ को मोहब्बत सिखाया करता है।

अब तेरे बिना जिंदगी गुजारना मुमकिन नही है,
अब और किसी को इस दिल में बसाना आसान नही है,
हम तो तेरे पास कब के चले आये होते सब कुछ छोड़ कर,
लेकिन तूने कभी हमे दिल से पुकारा ही नही है।

अब मोहब्बत नही रही इस जमाने में, क्योंकि लोग अब मोहब्बत नही मज़ाक किया करते है इस जमाने में।

इश्क की हमारे बस इतनी सी कहानी है,
तुम बिछड गए हम बिख़र गए,
तुम मिले नहीं और...
हम किसी और के हुए नही।

जब मिलो किसी से
तो जरा दूर का रिश्ता रखना,
बहुत तङपाते है
अक्सर सीने से लगाने वाले।

अजीब सा दर्द है इन दिनों यारों,
न बताऊं तो 'कायर', बताऊँ तो 'शायर'।

उजड़ जाते हैं सर से पाँव तक वो लोग जो,
किसी बेपरवाह से बे-पनाह मोहब्बत करते हैं।

मुझसे खुशनसीब हैं मेरे लिखे ये लफ्ज,
जिनको कुछ देर तक पढ़ेगी निगाहे तेरी।

लोग पूछते हैं क्यों सुर्ख हैं तुम्हारी आँखे,
हंस के कह देता हूँ रात सो ना सका,
लाख चाहूं मगर ये कह ना सकूँ,
रात रोने की हसरत थी रो ना सका।

लोग पूछते हैं क्यों सुर्ख हैं तुम्हारी आँखे,
हंस के कह देता हूँ रात सो ना सका,
लाख चाहूं मगर ये कह ना सकूँ,
रात रोने की हसरत थी रो ना सका।

तेरे सिवा कोई मेरे जज़्बात में नहीं,
आँखों में वो नमी है जो बरसात में नहीं,
पाने की कोशिश तुझे बहुत की मगर,
तू एक लकीर है जो मेरे हाथ में नहीं।

ज़लज़ले यूं ही बेसबब नहीं आते,
कोई दीवाना तह-ए-खाक तड़पता होगा।


Shayari dosti

दोस्ती एक वो एहसास होता है,
जो अनजाने लोगो को भी पास लाता है,
जो हर पल साथ दे वही दोस्त कहलाता है,
वरना तो अपना साया भी साथ छोड़ जाता है।

सच्चा दोस्त वही होता है जो हमे कभी गिरने न दे,
वो न कभी किसी की नज़रो में गिरने दे,
और न कभी किसी के कदमो में गिरने दे।

ज़िन्दगी के कुछ उलझे सवालो से डर लगता है,
ज़िन्दगी में दिल की तन्हाइयो से डर लगता है,
ज़िन्दगी में एक सच्चा दोस्त तो मिल पाना मुश्किल होता है,
पर एक सच्चे दोस्त को खोने से डर लगता है।

तेरी दोस्ती में ज़िन्दगी में तूफान मचाएंगे,
तेरी दोस्ती में दिल के अरमान सजायेंगे,
अगर तेरी दोस्ती ज़िन्दगी भर साथ दे,
तो हम दोस्ती में मौत को भी पीछे छोड़ जायेंगे।

ज़िन्दगी इतिहास फिर नही दोहराती,
हर पल हर मोड़ पर है दोस्तों की याद आती,
ज़िन्दगी दोस्ती के लम्हो में है गुम हो जाती,
उन लम्हो को सोच कर हमारी आँखे हैं नम हो जाती।

जब दोस्ती सच्ची और मजबूत होती है,
तो उसे जताने की ज़रूरत नही होती है,
चाहे दोस्त कितना भी दूर चला जाये,
उसे पास लाने की ज़रूरत नही होती है।

दोस्ती वो नही जो मिट जाये,
रास्तो की तरह कट जाये,
दोस्ती तो वो प्यारा एहसास है,
जिसमे सब कुछ पल भर में ही सिमट जाये।

तेरे हर एक दर्द का एहसास है मुझे,
तेरी मेरी दोस्ती पर बहुत नाज़ है मुझे,
क़यामत तक न बिछड़ेंगे हम दो दोस्त,
कल से भी ज्यादा भरोसा आज है मुझे।

हम तो पतझड़ में भी बहार ले आएंगे,
हम गहरी उदासी में भी प्यार ले आएंगे,
दोस्तों आप एक बार दिल से आवाज़ तो दो,
हम तो आपके लिए मौत से भी साँसे उधार ले आएंगे।

अगर दिल न मिले तो प्यार अधूरा होता है,
चाँदनी के बिना चाँद कब पूरा होता है,
दोस्तों की भूल कर ज़िन्दगी कटती नहीं,
क्यूँकी हर एक फ्रेंड जरूरी होता है।

वक्त की राहों में तुम भुला दो चाहे हमें,
पर हम तुमको न भूल पाएंगे,
तेरी दोस्ती की कसम ऐ दोस्त तू आवाज दे ख्वाबों में
हम हकीकत में चले आएंगे।

दोस्ती नज़ारों से हो तो उसे कुदरत कहते हैं,
चाँद-सितारों से हो तो जन्नत कहते हैं,
हसीनों से हो तो मोहब्बत कहते हैं,
और आपसे हो तो उसे किस्मत कहते हैं।

शबू की तरह मेरी साँसों में रहना;
लहू बनके मेरी नस-नस में बहना;
दोस्ती होती है रिश्तों का अनमोल गहना;
इसलिए दोस्त को कभी अलविदा न कहना।

कहीं अंधेरा तो कहीं शाम होगी,
मेरी हर ख़ुशी तेरे नाम होगी,
कभी मांग कर तो देख हमसे ए दोस्त,
होंठो पर हसीं और हथेली पर जान होगी।

तेरे सिवा कोई मेरे जज़्बात में नहीं,
आँखों में वो नमी है जो बरसात में नहीं,
पाने की कोशिश तुझे बहुत की मगर,
तू एक लकीर है जो मेरे हाथ में नहीं।

दिन बीत जाते है सुहानी यादें बनकर,
बाते रह जाती है कहानी बनकर,
पर दोस्त तो हमेशा दिल के करीब रहते है,
कभी मुस्कान तो कभी,
आँखों का पानी बनकर।


Shayari romantic

इससे ज़्यादा तुझे और कितना करीब लाऊँ मैं,
कि तुझे दिल में रख कर भी मेरा दिल नहीं भरता।

हक़ीक़त ना सही तुम ख़्वाब बन कर मिला करो,
भटके मुसाफिर को चांदनी रात बनकर मिला करो।

कभी लफ्ज़ भूल जाऊं कभी बात भूल जाऊं,
तूझे इस कदर चाहूँ कि अपनी जात भूल जाऊं,
कभी उठ के तेरे पास से जो मैं चल दूँ,
जाते हुए खुद को तेरे पास भूल जाऊं।

अल्फाज़ की शक्ल में एहसास लिखा जाता है,
यहाँ पर पानी को प्यास लिखा जाता है,
मेरे जज़्बात वाकिफ से है मेरी कलम भी,
प्यार लिखूं तो तेरा नाम लिखा जाता है।

उदास लम्हों की न कोई याद रखना,
तूफान में भी वजूद अपना संभाल रखना,
किसी की ज़िंदगी की ख़ुशी हो तुम,
बस यही सोच तुम अपना ख्याल रखना।

मेरे वजूद में काश तू उतर जाए,
मैं देखूं आइना और तू नजर आये,
तू हो सामने और वक्त ठहर जाए,
और तुझे देखते हुए जिंदगी गुज़र जाए।

ये लकीरें ये नसीब ये किस्मत,
सब फ़रेब के आईने हैं,
हाथों में तेरा हाथ होने से ही,
मुकम्मल ज़िन्दगी के मायने हैं।

कसके लबों को चूमते वक्त जब,
वो नजरों को झुकाती है,
दिल का हाल अजीब सा होता है,
जब वो हौले से मुस्कुराती है।

तेरी ऊंगलियाँ मेरी ऊंगलियो से,
जब भी उलझने को मचलती हैं,
उस वक्त सारी परेशानियां मेरी,
खुद़-ब-खुद़ सुलझने को मचलती हैं।

अपना बनाकर हमें अपनी आग़ोश में भर लो,
होंगे नहीं कभी जुदा हम आज ये वादा कर लो,
बिखर जाएंगे तुमसे अगर जो दूर हो गए,
कल हो सके न हो सके आज चंद बातें कर लो

वो करते हैं शिकायत हमसे
कि हम हर किसी को देखकर मुस्कुराते हैं,
शायद उन्हें नहीं पता कि
हमें हर मुखड़े में सिर्फ वो ही नज़र आते हैं।

आप दूर हो लेकिन दिल में यह एहसास होता है,
कोई ख़ास है जो हर वक़्त हमारे दिल के पास रहता है,
वैसे तो करते हैं याद हम सबको,
लेकिन आपकी याद का एहसास हमेशा ख़ास होता है

छुपाना चाहता हूँ तुम्हे अपनी आग़ोश में इस क़दर,
कि हवा भी गुज़रने की इज़ाजत माँगे,
हो जाऊँ मैं मदहोश तुम्हारे इश्क़ में इस क़दर,
कि होश भी आने की इज़ाजत माँगे।

कहाँ जाऊंगा मैं तुम्हे छोड़कर,
कि तुम्हारे बिना जब रात नहीं गुजरती,
तो ज़िन्दगी क्या ख़ाक गुजरेगी।

अगर आए तुम्हे हिचकियाँ,
तो माफ़ करना मुझे,
क्योंकि इस दिल को आदत है,
तुम्हे याद करने की…


Shayari for friends

आसमान से तोड़ कर सितारा दिया है,
आलम-ए-तन्हाई में एक शरारा दिया है,
मेरी किस्मत भी नाज़ करती है मुझपे,
खुदा ने दोस्त ही इतना प्यारा दिया है।

हम जब भी आपकी दुनिया से जायेंगे,
इतनी खुशियाँ और अपनापन दे जायेंगे,
कि जब भी याद करोगे इस पागल दोस्त को,
हँसती आँखों से आँसू निकल आयेंगे।

दोस्ती नाम है सुख-दुःख की कहानी का,
दोस्ती राज है सदा ही मुस्कुराने का,
ये कोई पल भर की जान-पहचान नहीं है,
दोस्ती वादा है उम्र भर साथ निभाने का।

खामोशियों में धीमी सी आवाज़ है,
तन्हाईयों में भी एक गहरा राज़ है,
मिलते नही हैं सबको अच्छे दोस्त यहाँ,
आप जो मिले हो हमें खुद पर नाज़ है।

यादों के भंवर में एक पल हमारा हो,
खिलते चमन में एक गुल हमारा हो,
जब याद करें आप अपने दोस्तों को,
उन नामों में बस एक नाम हमारा हो।

जो दिल के हो करीब उसे रुसवा नहीं करते,
यूँ अपनी दोस्ती का तमाशा नहीं करते,
खामोश रहोगे तो घुटन और बढ़ेगी,
अपनों से कोई बात छुपाया नहीं करते।

एहसास बहुत होगा जब छोड़ के जाएंगे,
रोयेंगे बहुत मगर आँसू नहीं आएँगे,
जब साथ कोई ना दे तो आवाज़ हमें देना,
आसमान पर होंगे तो भी लौट के आएंगे।

गुजर तो जाते हैं ,
मगर गुजारे नहीं जाते….!!!”
दोस्ती करो तो धोका मत देना,
दूसरो को आंसुओ को तोहफा मत देना,
दिल से रोये कोई जिंदगी भर,
ऐसा किसी को मौका मत देना |

जब कोई ख्याल दिल से टकराता है,
दिल न चाहकर भी खामोश रह जाता है
कोई सब कुछ कहकर दोस्ती जताता है
कोई कुछ न कहकर दोस्ती निभाता है !!

आपकी दोस्ती हमारी सुरूर का,
साज है आप जैसे दोस्त पे हमें,,
नाज है चाहे कुछ भी हो जाए दोस्ती
वैसे ही रहेगी जैसे आज है…!!

आसमान हमसे नाराज है
तारों का गुस्सा भी बेहिसाब है,
मुझसे जलते हैं यह सब क्योंकि
चांद से बेहतर दोस्त जो हमारे पास है..!

कुछ रिश्ते खून के होते हैं,
कुछ रिश्ते पैसे के होते हैं,
जो लोग बिना रिश्ते के ही रिश्ते निभाते हैं,
शायद वही “दोस्त” कहलाते हैं!!

दोस्ती तो जिंदगी का एक खूबसूरत लम्हा है,
जिसका अंदाज सब रिश्ते से अलबेला है,
जिसे मिल जाए वह तन्हाई मे भी खुशी है,
और जिसे ना मिले तो वो भीड मे भी अकेला है!!

दोस्ती नाम है सुख-दुख की कहानी का,
दोस्ती राज है सदा ही मुस्कुराने का,
यह कोई पल भर की पहचान नहीं है,
दोस्ती वाला है उम्र भर साथ निभाने का!!

दूरियों से कोई फर्क नहीं पड़ता,
बात तो दिलों की नज़दीकियों से होती है,
दोस्ती तो कुछ आप जैसों से है,
वरना मुलाकात तो जाने कितनों से होती है!